VERY SAD PHELA ADHURA YAR ,Pyar me dhoka mila mujhe | Sher O Shayari | firstlovers.in
Spread the love

उड़ रहा था मेरा दिल भी परिंदों की तरह,

तीर जब लग गई तो कोई भी मरहम हुआ !

 देख लेना था मुझे भी हर सितम की अदा,

  सनम तेरे जैसा मेरा कोई दुश्मन हुआ


 

Aansuo ki tarah aankho se na beh jana tum,

 Dua hai kabhi hamari zindagi se na jana tum,

 Maut ka dar nahi ye to ek din aani hai,

 Bas dar hai hum se bichad na jana tum.


Dil ne tere pyar par majbur mujh ko kar diya,

 Is jahaan ki har khushi se door mujh ko kar diya,

 Jis kadar chaha tha dil ne pass tere aane ko,

 Is kadar duniya ne tujh ko mujh se door kar diya.


तिनके तिनके मे बिखरते चले गये,

तन्हाई की गहराइयो मे उतरते चले गये,

जन्नत थी हर शाम जिन दोस्तो के साथ,

एक एक कर के सब बिछड़ते चले गये!


खून का हर क़तरा जिस्म में कहता है तुम्हे भुला दूं,

 मगर यह दिल आज भी कहता है की मुझे तुम से मोहब्बत है,


 

सदियों से जागी आँखों को एक बार सुलाने जाओ;

माना कि तुमको प्यार नहीं, नफ़रत ही जताने जाओ;

 जिस मोड़ पे हमको छोड़ गए हम बैठे अब तक सोच रहे;

क्या भूल हुई क्यों जुदा हुए, बस यह समझाने जाओ।


Taras Gaye Thodi Si Wafa Ke Liye,

 Kise Se Pyar Na Karenge Khuda Ke Liye,

 Jab Bhi Lagti Hai Ishq Ke Adalat,

 Hum Hi Kyu tanha reh Jaate Hai Saza Ke Liye.


तकदीर बनाने वाले तूने भी हद कर दी,

 तकदीर में किसी और का नाम लिखा था,

कोई दिल में चाहत किसी और की भर दी


मैंने रब से कहा वो छोड़ कर चली गई,

 पता नहीं उसकी क्या मजबूरी थी,

 रब ने कहा इसमें उसका कोई कसूर नहीं ,

यह कहानी तो मैंने लिखी ही अधूरी थी।


नफरतें लाख मिलीं पर मोहब्बत मिली,

ज़िन्दगी बीत गयी मगर राहत मिली,

तेरी महफ़िल में हर एक को हँसता देखा,

एक मैं था जिसे हँसने की इजाज़त मिली।


 

गलत कहते है लोग की सगंत का असर होता है,

 वो बरसों मेरे साथ रही फिर भी बेवफ़ा निकली यारो !!


मत कर मुझे भूलने की नाकाम कोशिश,

 तेरा युं हारना मुझे मंजूर नहीं है।।

कहीं पर भी रहें हम तुम मोहब्बत फिर मोहब्बत है,

 तुम्हें मै याद आऊंगा, मुझे तुम याद आओगे।


 

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.