Bewafa sanam ke liye shayari-Bewafa Shayari in Hindi – बेवफा हिन्दी शायरी -firstlovers.in
Spread the love

हमें तो शाम-ए-ग़म में काटनी है ज़िंदगी अपनी

जहाँ वो है वहीं ऐ चाँद ले जा चाँदनी अपनी

अगर कुछ थी तो बस ये थी तमन्ना आख़िरी अपनी

कि तुम साहिल पे होते, और कश्ती डूबती अपनी….

😨

बेहद करीब है वो शख़्स, आज भी

‘दिल’ के….

        जिसने ‘शिकायतों’ का सहारा लेकर,

          ‘दूरियों’ को….’अंजाम’ दिया था…

😨

लिख-लिख कर मिटा दिए

तेरी बेवफाई के गीत,

किया करती थी तू भी

वफ़ा एक ज़माने में।.   

😨

मेरे कलम से लफ्ज़ खो गए सायद

आज वो भी बेवफा हो गाए

सायद जब नींद खुली

तो पलकों में पानी था..

मेरे ख्वाब मुझपे रो गाए सायद..

😨

फूल इस सोच में ग़ुम हैं कि कहाँ महकेंगे,

तितलियों के लबे इज़हार पर पाबंदी है…..

कत्ल करने की खुली छूट है अब भी लेकिन,

प्यार मत करना यहां प्यार पर पाबंदी है….

😨

वो सागर नही आंसू थे मेरे,,

जिस पर वो कश्ती चलाते रहे..

मंज़िल मिले उन्हे यही आरज़ू थी मेरी,,,

इसलिए हम आँसू बहाते रहे…

😨

बहुत रोया है ये दिल उन्हें याद करके,

कुछ ना मिला रब से फरियाद करके.

वह कह गई मै ना दूंगी साथ आपका,

कोई पूछे उनसे क्या मिला हमें बर्बाद करके!

😨

मेरी बर्बादी में तुम कोई मलाल न करना ,

भूल जाना , मेरा ख्याल न करना ,

हम तेरे ख़ुशी के लिए कफ़न ओढ़ लेंगे ,

पर तुम मेरी लाश से कोई सवाल न करना!

😨

ज़रा सी बात पे ना छोड़ना किसी का दामन

उम्रें बीत जाती हैं दिल का रिश्ता बनाने में ….

😨

गैरों से दिल लगा के हमको भुला दिया

दिल पे हमारे तुमने खंजर चला दिया

ओ बेवफा तूने ये कैसा सितम किया

दिल को हमारे तुमने जख्मी बना दिया..

😨

रिश्तों के कुछ लिहाजदारी में,

रुह यू अजर-अमर हो गए,

इंतज़ार था जिनके लौट आने का,

वो आये जब, आंसू पत्थर हो गए..

😨

ज़िन्दगी हमेशा कुछ नया दिखाएगी

कभी हसेगी तो कभी रुलाएगी

इस पर भरोसा मत करना

यह ज़िन्दगी है, न जाने किस

मोड़ पे अकेला छोड़ जाएगी..

Bewafa Sanam

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.